UPTET: एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में साढ़े सात लाख से अधिक आवेदक

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में साढ़े सात लाख से अधिक आवेदक

शिक्षक भर्ती के लिए साढ़े सात लाख से अधिक आवेदन
0 29 जुलाई को प्रदेश के 39 जिलों में होगी एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा
0 यूपीपीएससी में हुई नोडल अफसरों की बैठक, तैयारियों को दिया अंतिम रूप

अमर उजाला ब्यूरो
इलाहाबाद। एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के लिए साढ़े सात लाख से अधिक आवेदन आए हैं। कुल 15 विषयों में एलटी ग्रेड शिक्षक के दस हजार से अधिक पदों पर भर्ती के लिए यह परीक्षा 29 जुलाई को होगी। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) परीक्षा की तैयारियों को अंतिम रूप देने में लगा है। एक-दो दिन के भीतर प्रवेशपत्र जारी किए जाने की तैयारी है। शुक्रवार को आयोग में नोडल अफसरों की बैठक भी आयोजित की गई, जिसमें परीक्षा के संचालन के मद्देनजर आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए।
एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा को लेकर लगातार भ्रम की स्थिति बनी हुई है। अभ्यर्थी उहापोह में हैं कि आयोग निर्धारित तिथि पर परीक्षा का आयोजन करा सकेगा या नहीं, लेकिन आयोग ने अपने स्तर पर परीक्षा के आयोजन की तैयारी पूरी कर ली है। एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा के लिए तकरीबन सात लाख 63 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं। परीक्षा प्रदेश के 39 जिलों में आयोजित की जाएगी। हर जिले में एक नोडल अफसर की नियुक्ति की गई है। आयोग के सचिव जगदीश ने बताया कि शुक्रवार को आयोग में सभी जिलों के नोडल अफसरों के साथ बैठक की गई। परीक्षा का सकुशल संपन्न कराने के लिए नोडल अफसरों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। एक-दो दिनों के भीतर अभ्यर्थियों के प्रवेशपत्र आयोग की वेबसाइट पर अपलोड कर दिए जाएंगे। अभ्यर्थी अपना प्रवेशपत्र ऑनलाइन डाउनलोड कर सकेंगे।

इनसेट
रोल नंबर आवंटन पर अफवाह, होगी एफआईआर
एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में रोल नंबर आवंटन को लेकर शुक्रवार को सोशल मीडिया पर अफवाह फैला दी गई। प्रतियोगियों के व्हाट्सएप ग्रुप और फेसबुक पर इस बात को प्रचारित किया गया कि जिन अभ्यर्थियों ने एक साथ ऑनलाइन फार्म भरे थे, उनके अनुक्रमांक एक ही क्रम में आयोेग की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं। अभ्यर्थियों ने परीक्षा में धांधली का आरोप भी लगा दिया और कहा कि इससे एक ही विषय के अभ्यर्थी आगे-पीछे बैठक कर नकल कर सकेंगे। इस बारे में जब आयोग के सचिव जगदीश से बात की गई तो उन्होंने बताया कि अभी प्रवेशपत्र ही जारी नहीं हुए तो रोल नंबर और सेंटर कहां से आवंटित हो जाएंगे। उन्होंने आयोग की वेबसाइट पर ऐसी किसी भी जानकारी से इंकार किया और कहा कि जो लोग परीक्षा को प्रभावित करने के उद्देश्य से अफवाह फैला रहे हैं, आयोग की ओर से उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। उधर, युवा मंच के बैनर तले प्रतियोगी छात्रों ने आयोग में ज्ञापन दिया और इस मामले में स्थिति स्पष्ट करने तथा सुधार की मांग की।

No comments :

Post a Comment