72000 / 99000 / 841 सभी सुरक्षित , आज आर्डर रिज़र्व , 5 वर्ष की दुश्वारियों का आज अंत हो गया : द्विवेदी विवेक

शुभ संध्या ग्रुप! 5 वर्ष की दुश्वारियों का आज अंत हो गया और साथ ही लूट के व्यापार का भी। आज सभी मामलों की सुनवाई पूर्ण हो गयी एवं इस पर अंतिम आदेश सुरक्षित हो गया। मुझे आज भी याद है जब संघर्ष की शुरुआत हुई थी तो कपिलदेव यादव को टेट संघर्ष मोर्चा ने विलेन बना दिया था परंतु आज यदि बीएड टेट अचयनित नौकरी का ख्वाब देख रहे हैं तो ये कपिलदेव यादव की ही देन है।
कपिलदेव अगर संघर्ष नहीं करते तो ये भर्ती कब की 72825 पर ख़त्म हो चुकी होती। अचयनित साथियों को 841/1100 का भी आभार मानना चाहिए। यदि दीपक मिश्रजी के आदेश पर 841 लोग नौकरी नहीं पाए होते तो अचयनित साथियों का 72825 से इतर जाकर नौकरी के बारे में सोचना भी संभव नहीं था। आज आँखों के सामने एक एक कर सारी घटनाएं ताजा हो रही है। लखनऊ में मैंने साथियों को लाठी खाते भी देखा तो जंतर मंतर पर संघर्ष का आह्वाहन करते भी। समय के साथ टेटमोर्चे को टुकड़े-2 होते भी देखा। मैंने अचयनित साथियों को लुटते देखा। मैंने अपने ही चहेतों को चयनित एवं 841 को गालियां देते देखा। मैंने शिक्षामित्रों के संघर्ष को भी करीब से देखा। जनता द्वारा चुनी गयी पूर्ण बहुमत की समाजवादी सरकार द्वारा लाखों बेरोजगारों को अँधेरे के गर्त में धकेलते देखा। क्या सही था और क्या गलत मुझे नहीं पता परंतु मैं बस इतना कह सकता हूँ कि हरएक व्यक्ति अपने हित के लिए संघर्षरत था जोकि मानव स्वभाव है। 5 वर्षों के संघर्ष ने हमें 2 हीरो एस के पाठक और हिमांशु राणा के रूप में दिए, भविष्य में ये देखना रोचक होगा कि ये दोनों अपने आभामंडल और व्यक्तित्व को कितना बचाकर रख पाते हैं। खैर! यादों के आईने से बाहर निकलकर हकीकत की दुनियां में चलना ही बेहतर है।
आज आर्डर रिज़र्व है तो मैं कह सकता हूँ कि अभी तक जिनका भी चयन हुआ है ; 72000/99000/841 सभी सुरक्षित हैं। और बीएड टेट के जो अचयनित साथी हैं उनको भी लाभ मिलना निश्चित है परंतु ये लाभ की स्थिति क्या होगी कितनी होगी अंतिम आदेश के अपलोड होने पर ही पता चलेगा। अचयनित साथियों के लिए अवसर पैदा करने के लिए विभा माखीजा मैडम, राहुल पांडेय, रामकुमार पटेल और मयंक तिवारी का मैं तहे दिल से आभार व्यक्त करता हूँ। इन लोगों ने अपनी क्षमता से परे जाकर अचयनित साथियों के लिए प्रयास किया जो निश्चित ही सराहनीय है। मैं उन सभी साथियों को भी नमन करता हूँ जिन्होंने जीतोड़ संघर्ष किया परंतु दुर्भाग्यवश अब हमारे बीच नहीं हैं। इस पूरे मामले में अगर किसी पक्ष का नुक्सान होते हुए देख रहा हूँ तो वो समायोजित शिक्षामित्र हैं, जिनके समायोजन पर चंद्रचूर्णजी का आर्डर यथावत रहने की उम्मीद है। मुझे आशा है कि अंतिम आर्डर अपलोड के समय बीएड टेटपास अधिकतम लोग लाभ के दायरे में होंगे। मैं अचयनित साथियों को भविष्य में एक अध्यापक के तौर पर स्कूल में कार्यरत देखूँ। इसी अभिलाषा सहित,
द्विवेदी विवेक
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment

Big Breaking

Breaking News This week