अकादमिक v/s टेट केस IN SUPREME COURT: तलवार की नोंक पे कर रहे नौकरी

नव वर्ष में आप सबकी पहले की तरह की निष्क्रियता पे लाखों बधाई । दिन जैसे जैसे 22 फरवरी के नजदीक आ रहे हैं चिंता बढती जा रही है । जनवरी बीतते ही फरवरी में तो कहीं कुछ नहीं हो पायेगा । सब चुनाव में ऐसे व्यस्त हो जायेंगे जैसे विधायकी घर से लड़ी जा रही है मुख्य मंत्री बड़े
ताऊ बनने जा रहे हैं ।
15000 में ही नहीं अब तो 16448 में भी सैलरी मिलने लगी है फिर भी किसी को अपनी नौकरी की कोई चिंता नहीं है । तलवार की नोंक पे नौकरी कर रहे हैं सब जब तक आप इसे समझेंगे तलवार घुस के फाड़ देगी तब इसकी धार और दर्द समझ आएगी ।


 300000 लोगों को सुप्रीम कोर्ट ने reservation in promotion मामले में demote कर दिया फिर क्या उखाड़ लिया किसी ने । आप लोग उनसे ज्यादा संख्या में नहीं हैं ।
 अभी कुछ दिन पहले B.C.C.I. प्रेसीडेंट अनुराग ठाकुर को हटा दिया गया । वो दुनिया के सबसे धनी खेल बोर्ड और एक सत्तारूढ़ पार्टी के बड़े नेता है। पैसे और वकीलों की फौज थी पर उनकी *मै* ही सही हु यह सोच उनके विनाश का कारण बनी ।
जब वो कोर्ट की नज़र मे कुछ नहीं थे।हम और आप तो बस एक आम प्राइमरी मास्टर है इस विभाग मे अभी कुछ महीने पहले  आया है।
हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट किसी को नहीं बख्शती गलत होने पर । फिर नौकरी 1 साल किया हो या 10 साल ।
*सबसे बड़ा चूतियापा तो ये है कि नौकरी मिलने के बाद कुछ नहीं होता*
कुछ लोग आगे आकर सबके लिए प्रयास करते हैं तो लोग कहते हैं वो देखो वो लड़ तो रहा है क्या ज़रूरत है हमे लड़ने की । अरे मुर्खाधिराज जो लड़ रहा है सुप्रीम कोर्ट के लिए वो चंद लोग सुप्रीम कोर्ट की लडाई अकेले नहीं लड़ पाएंगे जब तक आप लोगों का आर्थिक सपोर्ट नहीं मिलेगा । हाई कोर्ट में वकीलों की फीस लाखों में है अब अन्दाजा लगा लीजिये , कैसे होगी सुप्रीम कोर्ट की लडाई ।
*फोन करके सब पूछेंगे क्या चल रहा है , फटी सबकी पड़ी है लेकिन कहें कैसे*
मान लेंगे तो पैसे देने पड़ेंगे तो भाई मेरे 2000₹ में गरीब नहीं हो जाओगे । लेकिन नौकरी चली गयी एक बार तो ज़रूर गरीब हो जाओगे ।
*फैसला कर लो लड़ने वाले हमेशा आगे नहीं आते हैं*
*सोचते ही रहना है या 2000₹ देके अपनी जिम्मेदारी पूरी करनी है*
*आपकी टीम*
*आवेश विक्रम सिंह" बाहूबली (सुल्तानपुर) , अक्षत पाण्डेय (हरदोई), अमित वर्मा(बाराबंकी), अजय त्रिपाठी "ओमी " (प्रतापगढ़), रतनदीप (पीलीभीत), विवेक वर्मा(बाराबंकी), अखलेश कुमार (कासगंज), आशीष पाण्डेय (बस्ती), अभिनव सिंह " राजपूत " (फैज़ाबाद), प्रेम वर्मा और सभी जिला प्रतिनिधि*।
नव नियुक्त सहायक अध्यापक
आवेश विक्रम सिंह " बाहूबली "
*सुल्तानपुर*
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment

ख़बरें अब तक