समायोजन/ स्थानांतरण जब भी हों पर करवाये सॉफ्टवेयर के द्वारा ही : गणेश दीक्षित

साथियों , सपा सरकार में समस्त भर्तियों को कोर्ट में फँसाने वाले अधिकारी का राज़ भाजपा शासन में भी कायम है और अपनी जादुई कुटिलता से दो बड़े काम को अंजाम दे चुके हैं जिनसे बेसिक में व्याप्त भेदभाव व भ्रष्टाचार पर अंकुश लगने की आशा थी -

1- बेसिक शिक्षा चयन बोर्ड गठन के विचार को समाप्त करवाना ।
2- हरियाणा में सफल समायोजन / स्थानांतरण सॉफ्टवेयर को साथी बीएसए से मिलकर समस्याग्रस्त घोषित करवाकर बीएसए द्वारा ऑफलाइन व्यवस्था का आदेश मतलब भ्रष्टाचार ।
कुलमिलाकर इन साहब की पहुँच इतनी है की गत पाँच वर्षों में विभाग की बेकदरी के बाद अभी भी मलाई काट रहे हैं और भाजपा सरकार के भेदभावहीन व भ्रष्टाचारमुक्त व्यवस्था को बड़े ही सुनियोजित तरीके से पलीता लगाने में लगे हुये हैं ।
समस्त बेसिक शिक्षकों की माननीय मुख्यमंत्री जी और माननीय बेसिक शिक्षा मंत्री से अपील है की इस मामले को संज्ञान में लेते हुये तुरंत इन साहब की कारगुजारियों की जाँच करवाते हुये इन्हें बेसिक शिक्षा परिषद सचिव के पद से हटाया जाये वरना बेसिक में एक भी योजना सुचारु रूप से लागू नहीँ होगी और सरकार के समस्त आदेश फैल होते हुये दिखाई देंगे ।
इससे न केवल बेसिक शिक्षा ही गर्त में जायेगी वरन भाजपा सरकार की जगहंसाई भी होगी ।
क्योंकि शासन बेसिक शिक्षा को साफ सुथरा करना चाहता है पर विभाग के कुछ अधिकारी अपने शातिर दिमाग से सारे आदेशों और मंशाओं को नाना बहाना बनाकर फैल करना चाहते हैं जिससे ये पूर्व की भाँति मलाई मारते रहें अत: सरकार से अनुरोध है की समायोजन/ स्थानांतरण जब भी हों पर करवाये सॉफ्टवेयर के द्वारा ही , जिससे भेदभाव व व्याप्त भ्रष्टाचार को ख़त्म किया जा सके , आशा ही नहीँ पूर्ण विश्वास है की शासन निराश नहीँ करेगा ।
आपका - गणेश शंकर दीक्षित
टीईटी संघर्ष मोर्चा ,उ.प्र .
सँघेय शक्ति सर्वदा ।
जय हिन्द जय टीईटी ॥
No automatic alt text available.
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment

Big Breaking

Breaking News This week