मार्कशीट का वेरिफिकेशन अब अपने स्मार्ट फोन से घर बैठे,फर्जी मार्कशीट की पहचान करने के लिए उप्र म.शिक्षा परिषद तैयार करा रहा मोबाइल एप

संवाददाता, लखनऊ : फर्जी मार्कशीट की पहचान करने के लिए उप्र मदरसा शिक्षा परिषद मोबाइल एप तैयार करा रहा है। स्मार्ट फोन यूजर इस एप से घर बैठे अपनी मार्कशीट का वेरिफिकेशन कर सकेंगे। मार्कशीट के वेरिफिकेशन के लिए अब अभ्यर्थियों को बोर्ड कार्यालय के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।
1ऑनलाइन आवेदन व सरकारी स्कूलों में परीक्षाएं कराने के फैसले के बाद अब मदरसा बोर्ड ने एक कदम और आगे बढ़ाया है। फर्जी मार्कशीट की पहचान करने के लिए मदरसा बोर्ड तकनीक का सहारा ले रहा है। व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए मार्कशीट में क्यूआर कोड अंकित किया जाएगा। इस क्यूआर कोड से ही अभ्यर्थी अपनी मार्कशीट का वेरिफिकेशन कर सकेंगे। मोबाइल से क्यूआर कोड रीड कराते ही अभ्यर्थी का ब्योरा स्क्रीन पर होगा। मार्कशीट पर प्रिंट के लिए विशेष फांट भी तैयार किया जा रहा है। जो कॉपी नहीं होगा।
पिछले साल बोर्ड की करीब 600 मार्कशीट फर्जी पाई गई थी। इस संबंध में मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार मुहम्मद तारिक ने बताया कि जल्द ही स्मार्ट फोन यूजर प्ले स्टोर से  एप डाउनलोड कर सकेंगे। यूपी डेस्को इस एप्लीकेशन को तैयार कर रहा है। मार्कशीट पर अंकित क्यूआर कोड को स्कैन (रीड कराना) कराने के कुछ देर में ही अभ्यर्थी का ब्योरा मोबाइल स्क्रीन पर होगा।
हर मार्कशीट का अलग कलर
नई मार्कशीट का कलर अलग-अलग होगा। हर मार्कशीट पर लोगो भी होगा। इसबार मुंशी की मार्कशीट का लोगो हरा, मौलवी का नीला, आलिम का भूरा, कामिल का लाल और फाजिल का पीला कलर होगा। कलर से भी मार्कशीट की पहचान की जा सकेगी।

sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment

Big Breaking

Breaking News This week