BJP की धमाकेदार जीत से ख़ुशी की लहर - लोक सेवा आयोग की कार्यशैली बदलने का बढ़ा भरोसा

BJP की धमाकेदार जीत से ख़ुशी की लहर - लोक सेवा आयोग की कार्यशैली बदलने का बढ़ा भरोसा
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने लखनऊ में उठाया और फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रैलियों में खूब गरजे। पीएम की आखिरी सभा में सुहासिनी बाजपेई की कॉपी बदलने का मुद्दा तक उठा।
राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : सूबे की सभी भर्तियों पर विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान अंगुलियां उठ चुकी हैं। इसमें उप्र लोकसेवा आयोग प्रतियोगियों के खास निशाने पर रहा है। इसीलिए प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति ने चुनाव में भर्तियों को लेकर पोस्टर तक जारी किया था। समय रहते ही लोकसेवा आयोग का प्रकरण पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने लखनऊ में उठाया और फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रैलियों में खूब गरजे। पीएम की आखिरी सभा में सुहासिनी बाजपेई की कॉपी बदलने का मुद्दा तक उठा।

विधानसभा चुनाव परिणाम घोषित हो चुका है और होली बाद नई सरकार गठित होगी। ऐसे में उप्र लोकसेवा आयोग की कार्यशैली में बदलाव आने की युवाओं ने उम्मीद संजो रखी है। मोर्चा के मीडिया प्रभारी अवनीश पांडेय कहते हैं कि सबसे पहले यहां आयोग अध्यक्ष एवं सदस्यों को काम करने से रोका जाना चाहिए। नई टीम नए सिरे से यहां कामकाज करे और पुराने प्रकरणों की सख्ती से जांच कराई जाए। इससे जहां एक ओर दोषी दंडित होंगे वहीं दूसरी ओर युवाओं का विभिन्न पदों पर चयन भी होता रहेगा।

आयोग दुरुस्त होने के बाद माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड एवं उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग की भर्तियों एवं सदस्यों की जांच होनी चाहिए। इसी तरह अधीनस्थ सेवा चयन आयोग और अन्य विभागों में समय-समय पर नियुक्तियों की जांच कराई जाए।

अवनीश कहते हैं कि पीएम के खुद यह प्रकरण उठाने से युवा उत्साहित हैं कि अब नई सरकार इस दिशा में कठोर कदम जरूर उठाएगी। उन्होंने कहा कि पीएम और युवाओं की सोच भी समान है। दोनों पारदर्शी ढंग से नियुक्तियां चाहते हैं।
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment