आज की सुनवाई का सारांश : अवैध रूप से समायोजन रद्द होगा , ओपन competition होगा , सभी को मौका मिलेगा , शिक्षा मित्रों को उम्र की छूट मिलेगा

सभी साथियों को शुभ संध्या,
आज कोर्ट पूर्ण तैयारी के साथ 11:30 बैठी।शिक्षा मित्र केस takeup होने के सबसे पहले नीरज रॉय की slp(पी0जी0 बेस) पर सुनवाई हुई जिसमें कोर्ट ने राहत देते हुए इन्हें include करने को कहा।
आफ्टर लंच फुल टाइम शिक्षा मित्र केस ही चला।जिसमे आज कोर्ट ने सिर्फ सरकारी अधिवक्ता को ही सुना बीच में यदि कोई unnecessary बोलना भी चाहा तो कोर्ट ने मना कर दिया।
आज इतनी तैयारी थी कोर्ट की दोनों जज महोदय ने सरकारी अधिवक्ता को चंद्रचूड़ सर के आर्डर को पेज न0 दे देकर पढ़वाया।
मित्रों कुछ मुख्य बातें-
कोर्ट ने सरकार से स्पष्ट कहा कि आप यानि सरकार को 10 हजार तक के लोगो का समायोजन का अधिकार है तो आपने 130000 लोगो का कैसे कर दिया,आप आदेश दिखाइये।इस मुद्दे पर संजय सिन्हा महोदय को कोर्ट ने तलब भी कर लिया लेकिन वो कोर्ट के अंदर नही पहुँचे।
सरकार ने कहा ये योग्य लोग है तो कोर्ट ने साफ़ कहा कि जब ये सब योग्य है तो एक ओपन competion के द्वारा सबको मौका क्यों नही दिया।जब सरकार की चोरी पकड़ी गई तो सरकारी अधिवक्ता ने कोर्ट में समझौते के पेशकश की और कहा कि इन्हें आप बचा दीजिये हम जितने भी रिट पेटीशनर है सबको जॉब दे देंगे।
लेकिन कोर्ट ने इनके हर दलील को ख़ारिज कर दिया और कहा जब प्रदेश में पहले योग्य लोग थे तो अपने इन लोगो की ट्रेनिंग क्यों कराई।आप छः महीने का समय लीजिये और सबको(योग्य लोगों को) ओपन competition का मौका दीजिये।जो योग्य होगा वो चुना जाएगा।इन्हें हम उम्र का relaxations दे देंगे।
इसके मित्रों कोर्ट का समय पूर्ण होने के बाद जेठ मलानी जी ने भी अपने वरिष्ठता(90 साल) का हवाला देकर बोलने का आदेश कोर्ट से लिया लेकिन अपने तर्क से वो कोर्ट को प्रभावित नही कर पाएं।
मित्रों आज की सुनवाई का सारांश यही है कि अवैध रूप से समायोजन रद्द होगा।एक ओपन competition होगा जिसमें सभी को मौका मिलेगा।शिक्षा मित्रों को (जो टेट पास होंगे हालाँकि उनकी संख्या बहुत कम है,) उम्र की छूट मिलेगा।इसमें हमारे संघर्ष के साथी भी participate करेंगे।जो योग्य होगा वो नौकरी ले जायेगा।
मित्रों हमारे एक साथी,जिन्हें एक AOR फोन करके घबड़वा कर उन्हें डेल्ही बुला रहे है।
सभी साथियो से निवेदन है कि डरे या घबराएं बिलकुल नही,हमारा 72825 रिज़र्व हो चुका है।आज कोर्ट ने सरकार को सुना है कल respondent को सुनकर आर्डर रिज़र्व कर लेगी।इसलिए बिल्कुल भी न डरें इन AOR महोदय का डर पैदा करना काम है।ये उनका bussiness है यदि कोई बात उठती भी है तो मां शारदा इसके लिए काफी हैं।
कल कोर्ट में एक पार्ट हर्ड मैटर है उसके बाद अपना केस सुना जायेगा।
राकेश यादव
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment

Big Breaking

Breaking News This week