समस्त गुणांक पर केवल 72825 को छोड़कर समस्त बीएड अभ्यर्थियों के लिए विचार किया जाना संभव नहीं : हिमांशु राणा

हाल ही में डीपी द्वारा पदों को लेकर मांगी गई जनसूचना का निस्तारण जिसमे डीपी ने मा० सर्वोच्च न्यायालय के अंतरिम आदेशानुसार (दिनांक :- 24 feb , 24 aug , 17 nov 2016 को हुए) बीएड अभ्यर्थियों के लिए शासन-स्तर से जवाब मांगा था कि क्या शासन/सत्ता द्वारा बीएड अभ्यर्थियों की नियुक्ति के लिए हुए मा० अंतरिम आदेशानुसार कोई विचार या कोई कार्य किया जा रहा है ?

जवाब 11 June 2017 को सीधा दिया गया है :- विगत वर्षों में विशेषकर 2011 से 2017 में लगी आचार सहिंता से पूर्व तक वृहद स्तर पर भर्तियां की गई हैं (समस्त गुणांक पर केवल 72825 को छोड़कर) इसलिए अब समस्त बीएड अभ्यर्थियों के लिए विचार किया जाना संभव नहीं है |
आप स्वयं देखें कि अभी मा० सर्वोच्च न्यायालय से निर्णय आया भी नहीं है और बीएड वालों के प्रति उदासीनता/विरोध अधिकारी स्तर पर उसी गति से आज भी जारी है |
कभी खबर छपती है :-
विद्यालयों में सरप्लस शिक्षक हैं ,
विद्यालय बंद होने जा रहे हैं आदि आदि |
शुरुआत से कहते आ रहे हैं शिक्षामित्रों के हटे बिना कुछ नहीं होना है और अभी मा० सर्वोच्च न्यायालय भी समस्त अर्ह अभ्यर्थियों की नियुक्ति हेतु क्या रुख अपनाता है वो देखने वाली बात होगी क्यूंकि ये सभी जान चुके हैं समायोजन निरस्त होना तय है , लेकिन उत्तर-प्रदेश की सामाजिक/शैक्षिक व्यवस्था हेतु इस सरकार को अर्ह अभ्यर्थियों की नियुक्ति के लिए कितना समय दिया जाएगा वो भी एक फैक्टर रहेगा |
बहरहाल अभी के लिए बस इतना है कि मा० सर्वोच्च न्यायालय से ही बीएड अभ्यर्थियों की आस है बाकी डिप्टी सीएम या अन्य कुकर्मी जो जी०ओ० इसी अधिकारी के दम पर निकलवा रहे थे (जो नीचे बीएड अभ्यर्थियों के लिए आग उगल रहा है) उनका काम बोल रहा है अब और आने वाले पांच वर्ष चिल्लाएगा भी | 😝😝😝😝😝
खैर भाजपा की नीति/नीयत किसी को नौकरी देने की लगती नहीं है जो मैं शुरू से कहता आया हूँ और इसमें भी कहने में गुरेज नहीं है कि कहीं इनकी ये खुरापात कार्यरत शिक्षकों से भी न हो जाए जैसे पीपीपी मॉडल | 😜😜😜
धन्यवाद
हर हर महादेव
आपका_हिमांशु राणा
No automatic alt text available.
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment