UPTET : जिस दिन भी शिक्षक भर्ती का विवाद निर्णीत हुआ तो वो सम्भले नहीं संभलेगा : हिमांशु राणा

मा० मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी जी को विरासत में जो शिक्षक भर्ती का विवाद मिला है जिस दिन भी निर्णीत हुआ तो वो सम्भले नहीं संभलेगा |
महाराज जी के शासनकाल में मा० न्यायपालिका की ऐसी बेंच में मुद्दा गया है जो कि भारत में सबसे ज्यादा तेजी से न्याय करने वाली है और इस बेंच में न्याय विधिक तौर पर होगा और JURISPRUDENCE जैसी चीज़ लेशमात्र ही रहेगी |
फिलहाल, शिक्षकों के बाहर होने पर विवादित भर्ती करने वाले सत्ता दल जब उत्तर-प्रदेश के अवध में विधिक तौर पर मा० न्यायपालिका के आदेश से बेरोजगार होने वाले जनमानस का सैलाब उमड़ा हुआ देखेगा तो कहीं न कहीं संतोष इस बात का रखेंगे कि मा० न्यायपालिका अगर इस केस को उसके शासनकाल में निर्णीत कर देता तो वे होने वाली अनहोनियों को रोक भी नहीं पाते और टिप्पणी करेंगे कि योगी सरकार ने कमजोर पैरवी करेगी |
फिलहाल योगी जी का लक्ष्य होगा मोदी जी को 2014 के परिणाम कि पुनरावृति 2019 में भी कराना | अभी मा० उच्चत्तम न्यायालय में होने वाली सुनवाई पर आने वाले निर्णय पर निर्भर हैं सभी लेकिन जो केस के विधिक पहलु को जानता है वो आने वाले काले दिनों की सुगबुगाहट कहीं न कहीं ले रहा है |
अभी केवल इस मुद्दे पर बीजेपी की तरफ से भी राजनीती ही है , किसी के लिए कोई प्लेटफॉर्म नहीं है पर हाँ एक दिन अम्मा कह रही थी कि बेटा ये गोरमेंट भी कहीं दिल्ली लखनऊ में समझौता करके फिर से मित्रों के साथ मित्रता न दिखा दे तो अम्मा ध्यान रखना आप भी -
"हिंदुस्तान में संसद से कोई भी ऐसा संशोधन नहीं हो सकता है जिससे एक वर्ग को लाभान्वित किया जा सके उसे भी बीएड वाले चुनौती देकर खारिज करा लेंगे |"
लेकिन अम्मा तब की स्थिति में आप कह सकती हो - "ये गोरमेंट बिक गई है |"
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Big Breaking

Breaking News This week