आदेश रिजर्व होने के बाद यही सवाल , कि जजमेन्ट क्या होगा ? SC से हाई कोर्ट जैसा ऑर्डर नही होगा

आने बाले जजमेंट को लेकर लोगो के दिमाग मे तरह तरह के ऑर्डर आ रहे हैं।कोई कहता है नॉन टेट ही बचेंगे कोई कहता है सिर्फ टेट पास ही बचेंगे ,कोई कहता है सीधी भर्ती ही होगी।
लेकिन यह सब अपने अपने विचार हैं और परिकल्पनाएं हैं।लेकिन एक बात तो sure है ,sc से हाई कोर्ट जैसा ऑर्डर नही होगा जिसमें हाई कोर्ट ने पौने दो लाख शिक्षा मित्रों को सड़क पर स्टेट से बिना किसी पॉलिसी फ्रेम करवाये आत्म हत्या करने के लिए छोड़ दिया।सुप्रीम कोर्ट में हाई कोर्ट का ऑर्डर मॉडिफाई हो ऐसा पूर्ण विस्वाश है। पहला ऑप्शन नॉन टेट समायोजन जो वर्तमान नियमावली पर है as it बहाल कर दे सुप्रीम कोर्ट तो यह सबसे सुखद परिणाम होगालेकिन कुछ लोग कह रहे हैं कि नॉन टेट समायोजन नही बचा तो टेट पास sm बच जायँगे ? ऐसा कभी संभव नही है।कि टेट पास को छोड़ दिया जाए और नॉन टेट को बापस शिक्षा मित्र के पद पर भेज दिया जाए यह आर्टिकल 14, 16 का सामने से उलंघन होगा,क्योंकि  टेट में  शिक्षा मित्रों को प्रतिभाग करने का एक भी अदेश स्टेट ऑफ up द्वारा नही दिया गया है क्योंकि जो भी टेट पास हुए हैं सिर्फ अपनी इच्छानुसार हुए हैं इज़लिये टेट में प्रतिभाग करने का समान अवसर शिक्षा मित्रों को नही मिला है।अर्थार्त अगर  सुप्रीम कोर्ट के विवेकानुसार टेट की समस्या आती है तो टेट क्वालीफाई करने का सबको मौका देना होगा।तब ही टेट पास sm का समायोजन बच सकता है यानी टेट एटेम्पट।ऐसा सिर्फ तभी हो सकता है जब सुप्रीम कोर्ट अपने शक्तिनुसार आदेश करे।
अगर उक्त दोनों तरह से हमे राहत नही मिलती है  सुप्रीम कोर्ट स्टेट को नई पॉलिसी फ्रेम करने का आदेश देगा।टाइम बांड के साथ जब तक सभी शिक्षा मित्र अपने पद पर तब तक बने रहंगे जबतक सरकार पॉलिसी फ्रेम नही करती और उसको पूरा नही करती।
सीधी भर्ती का ऑप्शन आज भी खुला है इज़लिये सीधी भर्ती को sc के किसी भी जजमेंट में शमील नही किया जा सकता।क्योंकि हाई कोर्ट के आदेशानुसार सीधी भर्ती में  आज भी  सभी अहर्ताएं ओर पात्रताये पूरी करने बाले शिक्षा मित्रों को मौका मिल रहा है।
जैसे सब बुद्धिजीवी अपने अपने विचार रख रहे हैं मैने भी रखे हैं जजमेंट के बारे में 100% कोई sure नही है।क्योंकि आदेश रिजर्व होने के बाद हजारो लोग यही सवाल कर रहे हैंकि जजमेन्ट क्या होगा इज़लिये यह मेरे विचार हैं।
धन्यवाद☺☺
@Madhav
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Big Breaking

Breaking News This week