माननीय न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ के फैसले में एक चूक थी : यस के पाठक

शिक्षामित्र मामले पर आगामी फैसले का संभावित सारांश ....माननीय न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ के फैसले में एक चूक हो गयी थी उन्होंने शिक्षामित्रों की विदाई तो कर दी लेकिन ये नहीं बताया कि इनकी जगह कौन लेगा और किस प्रकार लेगा और कितने समय में लेगा ।
माननीय उच्चतम न्यायालय में केवल इसी चूक को दुरुस्त किया जाएगा बाकी हाइकोर्ट का विनिश्चय यथावत रहेगा ।हाइकोर्ट की बहस के दौरान मैंने खरे साहब से इस बात जिक्र भी किया था उन्होंने कहा कि कुछ सुप्रीम कोर्ट के लिए भी बचा रहने दीजिए ।
हाँ एक बात और
अभी कुछ दिन पहले जब श्री अखिलेश यादव अपना त्यागपत्र लेके माननीय राज्यपाल श्री राम नाईक के पास पहुँचे तो उन्होंने इस्तीफा लेने के बाद ये कहा कि नए मुख्यमंत्री के शपथ लेने तक आप अपने पद पर कार्यवाहक भूमिका का निर्वहन करते रहेंगे ।
बाकी बहस का स्तर किसी विशेष चर्चा के लायक नहीं है ।
आपका
यस के पाठक
Image may contain: 1 person, sitting
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment

Big Breaking

Breaking News This week