68500 भर्ती : हाईकोर्ट से राहत नहीं मिलने पर टीईटी 2018 का आयोजन जल्द ही

लखनऊ. प्राइमरी स्कूलों में असिस्टेंट टीचर्स की भर्ती का रिजल्ट कम रह जाने से सरकार की चिंता बढ़ा दी।ऐसे में सिक शिक्षा विभाग कटऑफ कम कराने के लिए हाईकोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर करने की तैयारी कर रहा है।

68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए हुई परीक्षा में महज 38.52 फीसदी अभ्यर्थियों के पास होने से 26944 पद रिक्त रह जाएंगे।विभागीय अपर मुख्य सचिव प्रभात कुमार ने बताया कि हाईकोर्ट से राहत नहीं मिलने पर जल्द ही टीईटी 2018 का आयोजन किया जाएगा।
उसके बाद मौजूदा परीक्षा में रिक्त रहे पदों को शामिल करते हुए सहायक अध्यापकों की नई भर्ती निकाली जाएगी।
इस मामले को लेकर प्रभात कुमार का कहना है कि र्हाईकोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर कर बताया जाएगा कि कटऑफ अधिक होने से पद रिक्त रह गए हैं।
लिहाजा सामान्य व ओबीसी के लिए कटऑफ मार्क्स 45 के बजाय 40 प्रतिशत और एससी-एसटी के लिए 40 के बजाय 35 फीसदी करने की मंजूरी दी जाए।
इसके बावजूद अगर पद रिक्त रहेंगे तो सामान्य व ओबीसी के लिए कटऑफ 33 और एससी-एसटी के लिए 30 प्रतिशत निर्धारित करने का अनुरोध किया जाएगा।
बता दें कि उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 का रिजल्ट सोमवार को घोषित कर दिया गया।
यह परीक्षा 68,500 पदों पर भर्ती के लिए आयोजित हुई थी।

No comments :

Post a Comment