UPTET: अब इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि शिक्षा मित्र किस स्तर की सोच रखते हैं

Search This Blog

अब इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि शिक्षा मित्र किस स्तर की सोच रखते हैं

साथियों कल एक शिक्षा मित्राइन के पति से मिलना हुआ , उनकी सोच को देख कर बढ़ा आश्चर्य हुआ , उनका सोचना ये था कि ऑर्डर आए न आए , हमें तो सैलरी मिल ही रही है , और इसके साथ ही चाहत ऐसी कि वो
चाहते ही नहीं कि ऑर्डर आए , अब इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि शिक्षा मित्र किस स्तर की सोच रखते हैं , और दम ऐसे भरते हैं कि sc से जीतने से इन्हें कोई नहीं रोक सकता , जबकि हकीकत ये है कि इनकी इमारत झूठ की बुनियाद पर टिकी है , जो एक न एक दिन sc से भी गिरनी ही है , और ऊपर से अहम इतना जिसमें ये रावण को भी फैल कर दें , पर अब इसका अंत निश्चित है , कोई ताकत इनको नहीं बचा सकती , पहले शिक्षा मित्र सुनबाई से भागते थे , अब चाहते हैं कि फ़ैसला ही न आए , ये इनके अंत की पहचान है , जैसे दिया बुझने से पहले फड़फड़ाता है , वही फड़फड़ाहट है , और कुछ दिन की बात , ऑर्डर तो आएगा ही , सबसे बड़ी दिक्कत ये कि ये लोग सबको अपना ग़ुलाम समझते हैं , और सोच ऐसी रखते हैं कि सब इनकी उंगली पर नाचेंगे , इन्होंने जब फैसला इनके विपरीत आया तब न्यायलय का सम्मान नहीं किया , जो अब करेंगे , अबकि तैयार रहो इससे भी बुरे हस्र के लिए ।
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment